All times are UTC + 5:30 hours




Post new topic Reply to topic  [ 6 posts ] 
  Print view

हम क्यों भला
Author Message
PostPosted: Thu May 14, 2009 10:59 pm 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:36 pm
Posts: 2493
उससे हम क्यों भला छेड़खानी करें
उससे हम क्यों भला छेड़खानी करें
जिसके भाई सभी पहलवानी करें

माना उससे कोई ख़ूबसूरत नही
है कोई दिल कि जिसमें वो मूरत नहीं
पसलियाँ एक हो जाएँ जिस प्यार में
मुझको उस प्यार की अब ज़रूरत नहीं
उसपे क़ुर्बान क्यों ये जवानी करें...
जिसके भाई...

हाथ पैरों से मोहताज़ हो जाऊँ मैं
एक टूटा हुआ साज़ हो जाऊँ मैं
इश्क़ के इस झमेले में क्यों ख़ामख़ा
आई एम से आई वाज़ हो जाऊँ
मैं मुफ़्त में क्यों फ़ना ज़िंदगानी करें...
जिसके भाई...

क्यों कहूँ झूठ मैं उनसे डरता नहीं
ऐसी हिम्मत का दावा मैं करता नहीं
उसके भाई कहीं ना मुझे देख लें
उस मोहल्ले से भी मैं ग़ुज़रता नहीं
उनके जूते मेरी मान-हानी करें...
जिसके भाई...

जिस पे ख़तरा हो उसपे क्यों ट्राई करें
सबसे पिटते फिरें जग हँसाई करें
उसके भाई जो ठोकें सो ठोकें मगर
राह चलते भी मेरी ठुकाई करें
अपनी काया से क्यों बे-ईमानी करें...
जिसके भाई...

बात करने का भी है नहीं हौसला
बेहतरी है सुरक्षित रखें फ़ासला
भाइयों कि पिटाई झिलेगी नहीं
बस यही सोच के कर लिया फ़ैसला
ख़त्म अपनी यहीं पर कहानी करें...
जिसके भाई...

by manish


Top
 Profile  
 

Re: हम क्यों भला
PostPosted: Fri May 15, 2009 12:45 pm 
Offline

Joined: Sun Feb 01, 2009 4:15 pm
Posts: 19
:)
good one...
sari ladkiyon ke pahalwan bhai hon yahi dua deti hun ....:)

thanks for sharing.
regards
aarya


Top
 Profile  
 

Re: हम क्यों भला
PostPosted: Tue Jun 09, 2009 1:51 am 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:36 pm
Posts: 2493
aarya dear
dua kubul ho to acha hai hai na...:)

mis su always
love
sakhi


Top
 Profile  
 

Re: हम क्यों भला
PostPosted: Tue Jun 09, 2009 7:51 pm 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 23, 2008 3:28 pm
Posts: 3098
sakhi wrote:
उससे हम क्यों भला छेड़खानी करें
उससे हम क्यों भला छेड़खानी करें
जिसके भाई सभी पहलवानी करें

माना उससे कोई ख़ूबसूरत नही
है कोई दिल कि जिसमें वो मूरत नहीं
पसलियाँ एक हो जाएँ जिस प्यार में
मुझको उस प्यार की अब ज़रूरत नहीं
उसपे क़ुर्बान क्यों ये जवानी करें...
जिसके भाई...

हाथ पैरों से मोहताज़ हो जाऊँ मैं
एक टूटा हुआ साज़ हो जाऊँ मैं
इश्क़ के इस झमेले में क्यों ख़ामख़ा
आई एम से आई वाज़ हो जाऊँ
मैं मुफ़्त में क्यों फ़ना ज़िंदगानी करें...
जिसके भाई...

क्यों कहूँ झूठ मैं उनसे डरता नहीं
ऐसी हिम्मत का दावा मैं करता नहीं
उसके भाई कहीं ना मुझे देख लें
उस मोहल्ले से भी मैं ग़ुज़रता नहीं
उनके जूते मेरी मान-हानी करें...
जिसके भाई...

जिस पे ख़तरा हो उसपे क्यों ट्राई करें
सबसे पिटते फिरें जग हँसाई करें
उसके भाई जो ठोकें सो ठोकें मगर
राह चलते भी मेरी ठुकाई करें
अपनी काया से क्यों बे-ईमानी करें...
जिसके भाई...

बात करने का भी है नहीं हौसला
बेहतरी है सुरक्षित रखें फ़ासला
भाइयों कि पिटाई झिलेगी नहीं
बस यही सोच के कर लिया फ़ैसला
ख़त्म अपनी यहीं पर कहानी करें...
जिसके भाई...

by manish

************************
Karara, or samsamayik vyang,
Sakhi ji apko, or manish ji ko sadar dhanyvad...........

_________________
------------------------------------------------------------------
" Yadain "
" Batain Bhool Jati hain, Yadain yaad aati hain"


Top
 Profile  
 

Re: हम क्यों भला
PostPosted: Fri May 21, 2010 4:37 pm 
Offline

Joined: Sat Feb 07, 2009 10:41 am
Posts: 21
Location: New Delhi
Nice Posting

Thanks Sakhi


Top
 Profile  
 

Re: हम क्यों भला
PostPosted: Wed Jun 02, 2010 12:43 am 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:36 pm
Posts: 2493
yadein ji

sansar ji shukriya


Top
 Profile  
 

Display posts from previous:  Sort by  
Post new topic Reply to topic  [ 6 posts ] 

All times are UTC + 5:30 hours


Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest


You cannot post new topics in this forum
You cannot reply to topics in this forum
You cannot edit your posts in this forum
You cannot delete your posts in this forum

Search for:
Jump to:  
cron

Powered by phpBB © 2000, 2002, 2005, 2007 phpBB Group
© 2008, 2009,2010 Mahaktepal.com
Website is maintained by Gensofts (Web Design Company India)