All times are UTC + 5:30 hours




Post new topic Reply to topic  [ 6 posts ] 
  Print view

माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
Author Message
PostPosted: Sat Sep 26, 2009 11:47 pm 
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:37 pm
Posts: 161
चहु ओर लगी है माँ के दरबारों में भीड़
शंख घड़ियाड बजाकर सब कर रहें हैं स्तुतिगान
छप्पन भोग सोलहो श्रिगार , ग़रीबों को दान
और फिर माँग रहें हैं माँ से वरदान
पर माँ तो अंतर्यामी है वो सब जानती है
और उसे है सबके भावों का ज्ञान
वो जानती है इनमें से कितने ही करते हैं
स्त्रियों का अपमान
माँ को है उनकी कुत्सित मानसिकता का भान
जिससे सदैव करते हैं वो स्त्रियों का अपमान
माँ देख रही है कइयों की शरीर को भेदती नज़रें
और पढ़ रही है मन में उमड़ते घृणित विचार
और इतना सब जानने समझने , देखने के बाद भी
माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान |


Top
 Profile  
 

Re: माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
PostPosted: Mon Sep 28, 2009 11:20 am 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 23, 2008 3:28 pm
Posts: 3098
dheerendra wrote:
चहु ओर लगी है माँ के दरबारों में भीड़
शंख घड़ियाड बजाकर सब कर रहें हैं स्तुतिगान
छप्पन भोग सोलहो श्रिगार , ग़रीबों को दान
और फिर माँग रहें हैं माँ से वरदान
पर माँ तो अंतर्यामी है वो सब जानती है
और उसे है सबके भावों का ज्ञान
वो जानती है इनमें से कितने ही करते हैं
स्त्रियों का अपमान
माँ को है उनकी कुत्सित मानसिकता का भान
जिससे सदैव करते हैं वो स्त्रियों का अपमान
माँ देख रही है कइयों की शरीर को भेदती नज़रें
और पढ़ रही है मन में उमड़ते घृणित विचार
और इतना सब जानने समझने , देखने के बाद भी
माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान |


Dhirindra ji,
Samaj ke un kadwe sach main se ek ko shbd diye jo sabse ghrinit tasveer pesh karte hain, hirdya se dhanvyad

_________________
------------------------------------------------------------------
" Yadain "
" Batain Bhool Jati hain, Yadain yaad aati hain"


Top
 Profile  
 

Re: माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
PostPosted: Thu Oct 01, 2009 10:52 am 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 23, 2008 10:13 pm
Posts: 232
dheerendra wrote:
चहु ओर लगी है माँ के दरबारों में भीड़
शंख घड़ियाड बजाकर सब कर रहें हैं स्तुतिगान
छप्पन भोग सोलहो श्रिगार , ग़रीबों को दान
और फिर माँग रहें हैं माँ से वरदान
पर माँ तो अंतर्यामी है वो सब जानती है
और उसे है सबके भावों का ज्ञान
वो जानती है इनमें से कितने ही करते हैं
स्त्रियों का अपमान
माँ को है उनकी कुत्सित मानसिकता का भान
जिससे सदैव करते हैं वो स्त्रियों का अपमान
माँ देख रही है कइयों की शरीर को भेदती नज़रें
और पढ़ रही है मन में उमड़ते घृणित विचार
और इतना सब जानने समझने , देखने के बाद भी
माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान |


bahut hi achhe dost....
or bahut had tak sach tak pahunchne ki koshish hai janaab
kyu insaan bhookhe bhediyon wali harkaten karta hai..
or uska yeh kutsit pryas ananyaas hisab pursho per sawaaliya nishan chhod jata hai..
per dost har insaan aisa nahi hai..
maa ko pehchaan hai achhe bure ki....
kirpasabhi insaano ko ussi taraazoo mein na tolo :roll: :roll:
ek baar fir se sweekar karen hamari badhai acheh prayas ke liye
jeet

_________________
Jahaan chot khanaaa,, wahin muskurana..
Kuchh iss adaa se,,, ke ro de zamanaa....


Top
 Profile  
 

Re: माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
PostPosted: Sun Oct 04, 2009 2:25 am 
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:37 pm
Posts: 161
bahut bahut shukriya yadain ji...


Top
 Profile  
 

Re: माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
PostPosted: Sun Oct 04, 2009 2:26 am 
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:37 pm
Posts: 161
ehsaas_the feelings wrote:
dheerendra wrote:
चहु ओर लगी है माँ के दरबारों में भीड़
शंख घड़ियाड बजाकर सब कर रहें हैं स्तुतिगान
छप्पन भोग सोलहो श्रिगार , ग़रीबों को दान
और फिर माँग रहें हैं माँ से वरदान
पर माँ तो अंतर्यामी है वो सब जानती है
और उसे है सबके भावों का ज्ञान
वो जानती है इनमें से कितने ही करते हैं
स्त्रियों का अपमान
माँ को है उनकी कुत्सित मानसिकता का भान
जिससे सदैव करते हैं वो स्त्रियों का अपमान
माँ देख रही है कइयों की शरीर को भेदती नज़रें
और पढ़ रही है मन में उमड़ते घृणित विचार
और इतना सब जानने समझने , देखने के बाद भी
माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान |


bahut hi achhe dost....
or bahut had tak sach tak pahunchne ki koshish hai janaab
kyu insaan bhookhe bhediyon wali harkaten karta hai..
or uska yeh kutsit pryas ananyaas hisab pursho per sawaaliya nishan chhod jata hai..
per dost har insaan aisa nahi hai..
maa ko pehchaan hai achhe bure ki....
kirpasabhi insaano ko ussi taraazoo mein na tolo :roll: :roll:
ek baar fir se sweekar karen hamari badhai acheh prayas ke liye
jeet


bahut shukriya jo apne padha aur saraha..
aur main bhi es baat se sahmat hoon ki har insaan ek sa nahin hota aur isiliye mein kaha hai ki ..
"माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान |"...


Top
 Profile  
 

Re: माँ कैसे दे ऐसे पुरुषों को वरदान
PostPosted: Sun Nov 01, 2009 12:38 am 
User avatar
Offline

Joined: Tue Dec 16, 2008 11:36 pm
Posts: 2493
bahut achi rachna hai apki iatara ji
acha laga apen itne ache bhav rakhe

_________________
kuch pal sanjoye hai yado se lekar
unko sahejaa hai kalam se kah kar


Top
 Profile  
 

Display posts from previous:  Sort by  
Post new topic Reply to topic  [ 6 posts ] 

All times are UTC + 5:30 hours


Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 1 guest


You cannot post new topics in this forum
You cannot reply to topics in this forum
You cannot edit your posts in this forum
You cannot delete your posts in this forum

Search for:
Jump to:  
cron

Powered by phpBB © 2000, 2002, 2005, 2007 phpBB Group
© 2008, 2009,2010 Mahaktepal.com
Website is maintained by Gensofts (Web Design Company India)